Header Ads

क्रिप्टो करेंसी और बिटकॉइन क्या है (What is Cryptocurrency and Bitcoin)

क्रिप्टो करेंसी और बिटकॉइन क्या है (What is Cryptocurrency and Bitcoin)


मुद्रा (Cryptocurrency) दो प्रकार की होती है
  1. 1- भौतिक करेंसी (Physical Currency)
  2. 2- क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency)
प्रत्येक देश की अपनी अलग-अलग मुद्रा होती है, जैसे-भारत में रुपया, अमेरिका में डॉलर, यूरोप में यूरो आदि। इन्हे भौतिक करेंसी कहा जाता हैं जिसे हम लोग देख सकते हैं, छू सकते हैं और नियमानुसार किसी भी स्थान या देश में इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।
क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) इससे अलग होती है जो एक डिजिटल करेंसी (Digitalcurrency) है। इसे आप न तो देख सकते हैं, न छू सकते हैं, क्योंकि भौतिक रूप में क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) का  कोई मुद्रण नहीं किया जाता है क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) को आभासी मुद्रा (Fiat Currency) कहा जाता है।

क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) क्या है

क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) एक ऐसी मुद्रा है जो कंप्यूटर एल्गोरिथ्म (Algorithm) पर बनी होती है। यह एक ऐसी मुद्रा (currency) है जोकि स्वतंत्र मुद्रा है इस मुद्रा (currency) का कोई भी मालिक नहीं होता है। यह करेंसी किसी भी एक अथॉरिटी के काबू में भी नहीं होती है। जैसा की है सब जानते  है कि रुपया, डॉलर, यूरो या अन्य मुद्राओं का संचालन किसी राज्य, देश, संस्था या सरकार द्वारा किया जाता है लेकिन क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) का संचालन किसी राज्य, देश, संस्था या सरकार द्वारा नहीं किया जाता। यह एक डिजिटल करेंसी (Digitalcurrency) होती है जिसके लिए क्रिप्टोग्राफी (Cryptography) का प्रयोग किया जाता है।

सर्वप्रथम क्रिप्टो करेंसी की शुरुआत 2009 में हुई थी जो “बिटकॉइन” थी। इसको जापान के एक इंजीनियर सतोषी नाकमोतो (Satoshi Nakamoto) ने बनाया था। सतोषी नाकमोतो (Satoshi Nakamoto) कौन है इसकी पहचान अभी तक नहीं हो पायी है प्रारम्भ में क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) उतनी ज्यादा प्रचलित नहीं थी, किन्तु धीरे-धीरे इसके रेट आसमान को छूने लगे, जिसके कारण यह सफल हो गई और काफी प्रचलित हो गयी। 
2009 से लेकर वर्तमान समय तक लगभग 1000 से ज्यादा प्रकार की क्रिप्टो करेंसी बाजार में मौजूद हो चुकी हैं, जिनको फायदा पाने के लिए ख़रीदा और बेचा जाता है। 

क्रिप्टो करेंसी और बिटकॉइन क्या है (What is Cryptocurrency and Bitcoin)

क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) से क्या-क्या लाभ हैं? 

जैसा की हम सभी जानते है की किसी भी वस्तु के फायदे और नुकसान दोनों ही होते हैं। यहां हम सबसे पहले क्रिप्टो करेंसी के लाभ के बारे में बताते हैं। 
  • क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) एक डिजिटल करेंसी है  जिस कारण क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) में 
  • धोखाधड़ी की उम्मीद बहुत कम होती है। 
  • क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) में निवेश करना फायदेमंद है क्योंकि इसकी कीमतों में बहुत तेजी से उछाल आता है। लिहाजा, निवेश के लिए यह एक अच्छा प्लेटफॉर्म है। 
  • भारत (India) में अधिकतर क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) के वॉलेट उपलब्ध हो चुके हैं जिसके चलते ऑनलाइन खरीदारी, पैसे का लेन-देन सरल हो चुका है।
  • जिन देशो में क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) है वहाँ से क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency)  खरीद कर उसे देश के बाहर आसानी से भेजा जा सकता है और फिर उसे वहाँ के पैसे में रूपांतरित किया जा सकता है।

क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) के नुकसान क्या-क्या हैं?

  • क्योकि क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) का कोई भौतिक अस्तित्व नहीं है इसलिए क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) का मुद्रण नहीं किया जा सकता। इसका मतलब यह है कि ना तो इस क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) के नोट छापे जा सकते हैं और न ही क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) की कोई बैंक अकाउंट या पासबुक जारी की जा सकती है।
  • इसको कंट्रोल करने के लिए कोई देश, सरकार या संस्था नहीं है जिससे इसकी कीमत बहुत अधिक उछाल तथा बहुत ज्यादा गिरावट होती है, जिसकी वजह से क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) में निवेश करना कभी कभी नुकसान भी दे सकता है।
  • क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) उपयोग गलत कामों में भी किया जा सकता है  जैसे हथियार की खरीद-फरोख्त, ड्रग्स सप्लाई, कालाबाजारी आदि।
  • क्योकि क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) एक डिजिटल करेंसी (Digitalcurrency) है इसलिए क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) हैक करने का भी खतरा बना रहता है। अभी जल्द ही काफी क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) वॉलेट (wallet) हैक है।
  • अगर क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) कोई ट्रांजैक्शन आपसे गलती से हो जाए तो आप उसे वापस नहीं मंगा सकते हैं जिससे आपको घाटा हो सकता है।

क्या क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) का उपयोग कानूनन वैध है?

यह एक ऐसा सवाल है जोकि बहुत से लोग जानना चाहते है ?
इस सवाल का जवाब इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस देश में रहकर क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency)  उपयोग कर रहे हैं, क्योंकि कुछ देशों में अभी भी क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) को कानूनी मान्यता नहीं मिली है और क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) में पैसे लगाना गैरकानूनी है।
कुछ देशों ने क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) को  'ग्रे जोन' में रखा है। 'ग्रे जोन' का मतलब यह है कि देशों में ना तो क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) औपचारिक तौर पर बैन किया गया है और ना ही इसके प्रयोग की मान्यता दी गई है। भारत सरकार ने भी क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) को  'ग्रे जोन' में रखा है।


भारत (India) में क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) कैसे ख़रीदे?

भारत में बहुत से वॉलेट है जहॉ आप क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) खरीद और बेच सकते है  और यह वॉलेट पूरी तरह सुरक्षित (Safe) भी है इनमे कुछ अच्छे वॉलेट के नाम है 
ZebPay
WazirX
Binance


अगर आपको कुछ ओर भी जानना हो  क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) के बारे में तो कमेन्ट बॉक्स में कमेन्ट करके बताये।

No comments

close